www.poetrytadka.com

Mere man me bas rahi hai

मुस्कान तेरी प्यारे मेरे मन में बस रही है,

जादू भरी नज़र से कई तीर कस रही है