www.poetrytadka.com

mere chup rahne se

मेरे चुप रहने से नाराज ना हुआ करो,ऐ दोस्तों !
टूटे हुये लोग अक्सर इसी हाल में रहते हैं !!