www.poetrytadka.com

mazboor nahi krenge

मजबूर नही करेंगे तुझे वादे निभानें के लिए !
बस एक बार आ जा, अपनी यादें वापस ले जाने के लिए !!