www.poetrytadka.com

Marne ke naam par

Last Updated

मरने के नाम पर जो रखती थी मेरे होंठों पर !

उंगलियाँ अफसोस कि वही मेरी दिल की क़ातिल निकलीं !!

marne ke naam par