www.poetrytadka.com

mai tujhe dudhta hoon yado ki khuli

मैं तुझे ढूँढने यादों की खुली सड़कों पर !
ख़ुश्क पतों की तरह रोज़ बिखर जाता हूँ !!