www.poetrytadka.com

Mai tujhe chand kah doo

मैं तुझे चाँद कह दूं ये मुमकिन तो है मगर !
लोग तुझे रात भर देखें ये गवारा नहीं मुझे !!