www.poetrytadka.com

Love Urdu Shyari

हैं न मेरे ख्वाब खूबसूरत
खुद को जब भी देखा तेरी बाँहों में देखा
hain na mere khvaab khoobasoorat
khud ko jab bhee dekha teree baanhon mein dekha

सच्ची मोहब्बत की निशानी यही होती है की
उसके बाद फिर किसी से मोहब्बत नहीं होती है
sachchee mohabbat kee nishaanee yahee hotee hai kee
usake baad phir kisee se mohabbat nahin hotee hai
Love Urdu Shyari
सबसे बेस्ट शायरी Click Here