www.poetrytadka.com

Lakh dag kyu naa ho

Last Updated
लाख दाग क्यों ना हो दामन में पर चोर मेरे मन में तो नही !
अगर ना समझे वो इस बात को तो मेरे इश्क के काबिल वो नही !!