www.poetrytadka.com

Kud bhatak rha hoon

मै क्या किसी को रास्ता दिखाऊंगा
मै तो खुद भटक रहा हूँ मंजिल की तलाश में
Kud bhatak rha hoon