www.poetrytadka.com

Koy kitna bhi

कोई कितना भी हिम्मत वाला क्यूँ ना हो साहिब 

रुला ही देती है किसी खास इन्सान की कमी कभी कही !!

koy kitna bhi