www.poetrytadka.com

Kitni bhi siddat se

कितनी ही शिद्दत से क्यों न निभा लो कोई भी रिश्ता !
मगर बदलने वाले तो फिर भी बदल ही जाते !!