www.poetrytadka.com

kitne hashin manzar the

कितने हसीन मंज़र आये थे जिंदगी में !
आता है याद काफी गुज़रा हुआ जमाना !!