www.poetrytadka.com

Katra Katra

रिम-झिम बरस रही है याद तुम्हरारी, क़तरा क़तरा !!