www.poetrytadka.com

Jumma Mubarak Dua

या अल्लाह हमारे गुनाहों को माफ फरमा।
और आगे इनसे बचे रहने की तौफीक अता फरमा।
Ya Allah forgive our sins,
And in the future courage us to stay away from them.
یا اللہ ہمارے گناہوں کو معاف فرما
اور ہمیں گناہون  سے دور رہنے کی توفیق عطا فرما

अस्सलामु अलैकुम 
जुम्मा मुबारक 
दुआ में याद रखना 

Duayen
हवाएं अगर मौसम का रुख बदल सकती है 
तो दुआएं भी मुसीबत के पल बदल सकती है।

Jumma Mubarak Dua