www.poetrytadka.com

jo choot gya piche use pana chaha

jo choot gya piche use pana chaha

बीते लम्हो को रिश्वत देके बुलाना चाहा !
जो छूट गया कही पीछे उसे पाना चाहा '' हर कदम खुद को खाक होते पाया !
जब ज़िन्दगी ने जिन्दा रहना चाहा !!