jism se hone wali mohabbat

jism se hone wali mohabbat dard bhari

जिस्म से होने वाली मोहब्बत का इज़हार आसान होता है
रूह से हुई मोहब्बत समझने में ज़िन्दगी गुजर जाती है

zism se hone wali mohabbat ka izahaar aasaan hota hai
rooh se huye mohabbat samajhane mein zindagi gujar jati hai

Raat phir ayegi phir zahen ke darwaze par
Koi mehndi mein range haath se dastak dega
रात फिर आएगी फिर ज़हेंन के दरवाज़े पर
कोई मेंहदी में रंगे हाथ से दस्तक देगा

Uske lahze ke badalne ki kahani ko samajh kar
Ab bhi aye dil use chaho to tumhari marzi
उसके लहज़े के बदलने की कहानी को समझ कर
अब भी अये दिल उसे चाहो तो तुम्हारी मर्ज़ी

Zulfe Teri bikhri bikhri aur Anchal bhi sar se sarka
Dekh ke tera yaovan gori tb dil mera bhi behka
ज़ूलफ़े तेरी बिखरी बिखरी और आँचल भी सर से सरका
देख के तेरा यौवन गोरी तब दिल मेरा भी बहका

dard bhari shayari, dard shayari, dard shayari hindi

Read More Dard Bhari Shayari