www.poetrytadka.com

jhoom jate hai

jhoom jate hai
झूम जाते हैं शायरी के लफ्ज़ बहार के पत्तों की तरह
जब शुरू होता है बयां ए हुस्न महबूब का मेरे