www.poetrytadka.com

Jab bhi chahe

जब भी जी चाहे नई दुनिया बसा लेते हैं लोग !

एक चेहरे पे कई चेहरे लगा लेते हैं लोग !!