www.poetrytadka.com

itna aasan nahi

इतना आसान नहीं है शहर मोह्हबत का !
यहां खुद भी भटकते हैं रास्ता बताने वाले !!