www.poetrytadka.com

Insaan ka nature

इंसान मकान बदलता है, रिश्ते बदलता है, दोस्त बदलता है, लेकिन फिर भी दुखी रहता है क्योंकि वो अपने स्वभाव को नहीं बदलता।