www.poetrytadka.com

hum to pagal

hum to pagal

हम तो पागल हैं शौक़-ए-शायरी के नाम पर ही दिल की बात कह जाते हैं 

.और कई इन्सान गीता पर हाथ रख कर भी सच नहीं कह पाते है !!