www.poetrytadka.com

haar jaaunga muqadma

हार जाउँगा मुकदमा उस अदालत में, ये मुझे यकीन था !
जहाँ वक्त बन बैठा जज और नसीब मेरा वकील था !!