www.poetrytadka.com

Gzaab ka sbak diya

गजब का सबक दिया है ऐ इश्क तूने हमे !

जहाँ पल भी ना गुजरे वहाँ जिंदगी गुजार रहे !!