www.poetrytadka.com

Ghar ke har kone me

घर के हर कोने में बिखेर दी हमने तेरी खुश्बू !
तेरी गैरमौजूदगी में भी एहसास -ए-मौजूदगी !!