www.poetrytadka.com

Gazab ka hai mera dil

ग़ज़ब का है मेरे दिल मे उसका वजूद ,

मैं खुद से दूर और वो हर पल मुझमे मौजूद