www.poetrytadka.com

Diwane ho gaye

चलो कुछ देर बैठें दोस्तों में ग़म जरूरी हैं,
ग़ज़ल के वास्ते थोड़ा मसाला ले लिया जाए
न जाने कैसा मौसम हो दुशाला ले लिया जाए,
उजाला मिल रहा है तो उजाला ले लिया जाए
अब अँधेरा मुस्तक़िल रहता है इस देहलीज़ पर,
जो हमारी मुन्तज़िर रहती थी आँखें बुझ गए
तुम अपने चाहने वालों की बात मत सुनियो ..
तुम्हारे चाहने वाले दिवाने हो गए
Diwane ho gaye
सबसे बेस्ट शायरी Click Here