www.poetrytadka.com

Dard ka hisab

अगर मुहब्बत की हद नहीं .....

कोई, तो फिर दर्द का हिसाब क्यों रखूँ ...!!

Dard ka hisab
सबसे बेस्ट शायरी Click Here