www.poetrytadka.com

Chor gaye akele raho me

छोंड़ गए हमको वो अकेले ही राहों में, 

चल दिए रहने वो गैर की पनाहों में, 

शायद मेरी चाहत उन्हें रास नहीं आयी, 

तभी तो सिमट गए वो औरों की बाँहों में

सबसे बेस्ट शायरी Click Here