bhojpuri dard shayari

bhojpuri dard shayari

उजरल घर में अब केके ढूँढ़त बाड. तु !

 

बरबाद भईला पर ओकर ठिकाना ना रहेला !!

मुख्य पेज पर वापस जाए