www.poetrytadka.com

Best on poetrytadka

शिकायत रब से करता हूँ की तुम मिलते नहीं मुझको !

मगर खुद को तेरे काबिल बनाना रोज भूल जाता हूँ !!