www.poetrytadka.com

barbaad bastiyo me

बर्बाद बस्तीयों मे किसे ढुंडते हो तुम I
उजडे हुए लोगों के ठिकाने नहीं होते II