www.poetrytadka.com

aznabi ban kar gujar jana accha hai

जहाँ भूली हुई यादें दामन थाम लें दिल का !
वहां से अजनबी बन कर गुज़र जाना ही अच्छा है !!