www.poetrytadka.com

aukat nahi thi zamane mein

Last Updated

औक़ात नही थी जमाने में जो मेरी कीमत लगा सके ,

कबख़्त इश्क में क्या गिरे, मुफ़्त में नीलाम हो गए

aukat nahi thi zamane mein