www.poetrytadka.com

Ankhe alfaaz

ना कोई एहसास हैं, ना कोई जज्बात हैं !

बस एक रूह हैं, और कुछ अनकहे अल्फाज हैं !!