www.poetrytadka.com

Alone Sad Status

गलत तो नही थे हम पर खुद को 
सही साबित नही कर पाए।
Galat to nahi the ham par khud ko 
sahi saabit nahi kar paye.

दिल तो करता हैं की रूठ
जाऊँ कभी बच्चों की तरह, 
फिर सोचता हूँ कि मनाएगा कौन?
Dil karta hai ki rooth 
jaoun kabhi bachchon ki trah
fir sochta hun ki manayega kaun.

हजारों महफिलें हैं और लाखों मेले हैं, 
पर जहाँ तुम नहीं वहाँ हम अकेले हैं..!
Hazaron mahfilen hai aur lakhon mele hain
par jahan tum nahin wahan hum akele hain.

Alone Sad Status