www.poetrytadka.com

Aankhe bolti rahi

जुबां कह नही पाई मगर आंखें बोलती ही रही,

कि जीने के लिए साँसों से ज्यादा मुझे तेरी जरूरत है

Aankhe bolti rahi
सबसे बेस्ट शायरी Click Here