www.poetrytadka.com

zmanat hi de do

घुटता जा रहा हूँ मैं तेरी __यादों__ की __जेल__ में !
उम्र भर की रिहाई ना सही कुछ पल की जमानत ही दे दो !!