www.poetrytadka.com

Zindagi zakhmo se bhari hai

Last Updated
जिन्दगी जख्मो से भरी हैं; वक़्त को मरहम बनाना सिख लें !
हारना तो है मोतके सामने; फ़िलहाल जिन्दगी से जीना सिख लें !!