www.poetrytadka.com

zidagi se sulah karna padta hai

ज़िन्दगी से सुलह करनी पड़ती है यारों !
इससे खफ़ा रहकर नुकसान अपना ही है !!