www.poetrytadka.com

zakhmo ko bharne me waqt to lagta

हमने इलाजे-ज़ख़्मे-दिल तो ढूँढ़ लिया, लेकिन !
गहरे ज़ख़्मों को भरने में वक़्त तो लगता है !!