www.poetrytadka.com

Ye dil hi hai

ये "दिल" ही है जिसे हारने की आदत हो गई !
वर्ना,जहाँ भी हमने "दिमाक" लगाया फतह ही पाई है !!