www.poetrytadka.com

ye choch kar koi sfai de nhi

ये सोचकर कोई सफाई दी नहीं हमने !
इल्जाम झूठे भले हैं पर लगाये तो तुमने हैं !!