www.poetrytadka.com

ye buzrugo ki duaaao ka asar lagta hai

जो इक बीज था वो आज शज़र लगता है !
नई खुश्बू से महकता हुआ घर लगता है !
मेरे दामन में जमाने की सारी खुशियाँ हैं !
ये बुजुर्गों की दुआओं का असर लगता है !!

हिन्दी शायरी