www.poetrytadka.com

yaar ko mnane nikle

इस कदर हम यार को मनाने निकले !
उसकी चाहत के हम दीवाने निकले !
जब भी उसे दिल का हाल बताना चाहा !
तो उसके होठों से वक़्त ना होने के बहाने निकले !!