www.poetrytadka.com

Yaad tumhari

Last Updated
मसरूफियत में आती है बेहद याद तुम्हारी !
और फुरसत में तेरी याद से फुरसत नहीं मिलती !!