www.poetrytadka.com

Wo Bhi Kisi Aur Ke

मिलता भी नहीं तुम्हारे जैसा कोई इस शहर में !
हमें क्या मालूम था की तुम एक हो वो भी किसी औरके !!