www.poetrytadka.com

wo aaz bhi zinda hai

वक़्त हमे इस हाल में छोड़कर आज सर्मिन्दा है !
जो लम्हे हमने साथ में गुज़ारे थे, वो आज भी जिन्दा है !!