www.poetrytadka.com

vzah to bta de

vzah to bta de

मुझको छोड़ने की वज़ह तो बतादे 

मुझसे नाराज़ थे या मुझ जैसे हजारो थे !!