www.poetrytadka.com

Uthti nahi hai aankh

Last Updated
उठती नही है आँख अब किसी ओर की तरफ !
पाबंद कर गई है किसी की महोब्बत मुझे !!