www.poetrytadka.com

tumse alag kab hai

मेरी चाहतें तुमसे अलग कब हैं दिल
की बातें तुम से छुपी कब हैं !
तुम साथ रहो दिल में धड़कन की जगह
फिर ज़िन्दगी को साँसों की ज़रूरत कब है !!